Powered by Blogger.

Featured Posts

.

.

.

Translate

Online Users

Visitor Status

Free Global Counter

Follow on Twitter

विभिन्न विद्धानों द्वारा सिंधु सभ्यता का काल निर्धारण

| No comment

काल निर्धारण

सैंधव सभ्यता के काल को निर्धारित करना निःसंदेह बड़ा ही कठिन काम है, फिर भी विभिन्न विद्धानों ने इस विवादास्पद विषय पर अपने विचार व्यक्त किये हैं। 1920 ईसा पूर्व के दशक में सर्वप्रथम हड़प्पाई सभ्यता का ज्ञान हुआ।
  • हड़प्पाई सभ्यता का काल निर्धारण मुख्य रूप से 'मेसोपोटामिया' में 'उर' और 'किश' स्थलों पर पाए गए हड़प्पाई मुद्राओं के आधार पर किया गया। इस क्षेत्र में सर्वप्रथम प्रयास 'जॉन मार्शल' का रहा। उन्होंने 1931 ई. में इस सभ्यता का काल 3250 ई.पू. 2750 ई.पू. निर्धारित किया।
  • ह्वीलर ने इसका काल 2500 - 1500 ई.पू. माना है। बाद के समय में काल निर्धारण की रेडियो विधि का अविष्कार हुआ और इस विधि से इस सभ्यता का काल निर्धारण इस प्रकार है-
  1. पूर्व हड़प्पाई चरण: लगभग 3500-2600 ई.पू.
  2. परिपक्व हड़प्पाई चरण - लगभग 2600-1900 ई.पू.
  3. उत्तर हड़प्पाई चरण: लगभग 1900-1300 ई.पू.
  • रेडियो कार्बन ‘सी-14‘ जैसी नवीन विश्लेषण पद्धति के द्वारा हड़प्पा सभ्यता का सर्वमान्य काल 2500 ई.पू. से 1750 ई.पू. को माना गया है।
कालविद्धान
1- 3,500 - 2,700 ई.पू.माधोस्वरूप वत्स
2- 3,250 - 2,750 ई.पू.जॉन मार्शल
3- 2,900 - 1,900 ई.पू.डेल्स
4- 2,800 - 1,500 ई.पू. .अर्नेस्ट मैके
5- 2,500 - 1,500 ई.पू.मार्टीमर ह्यीलर
6- 2,350 - 1,700 ई.पू.सी.जे. गैड
7- 2,350 - 1,750 ई.पू.डी.पी. अग्रवाल
8- 2,000 - 1,500 ई.पू.फेयर सर्विस
Tags : , , ,