सीख - जैसे हम, वैसे लोग
जीवन में प्रेम प्यार और इन्सानियत को जगह दो न की गुस्सा , नफरत और गलत विचारों को... !!!

सीख - जैसे हम, वैसे लोग

एक लड़का और एक लड़की आपस में खेल रहे थे. जिसमे लड़के के पास संगमरमर का संग्रह था. जबकि लड़की के पास कुछ मीठा था.

उस लड़के ने लड़की से कहा की वो उसके मीठे के बदले में उसके सारे संगमरमर दे सकता है. इस बात पर वह लड़की मान गयी.
लड़के ने बड़े-बड़े और अच्छे संगमरमर को छुपा दिया और बाकी बचे हुए उस लड़की को दे दिए. और नियम के अनुसार उस लड़की ने अभी पूरा मीठा उस लड़के को दे दिया.
उस रात वह लड़की शांति से सो रही थी. लेकिन उस रात वह लड़का सो नहीं पाया वह ये सोच रहा था की जिस तरह उसने बड़े और अच्छे संगमरमर को छुपा दिया था उसी तरह कही लड़की ने भी अच्छा मीठा पदार्थ कही छुपा तो नहीं दिया होगा.


सीख-
किसी भी रिश्ते में अगर आप अपना 100% नहीं दे सकते हो, तो आपको हमेशा ये चिंता रहती है की कही दूसरा व्यक्ति भी अपना 100% नही दे रहा होगा तो.
जिस तरह के हम होते है, हम जीवन में उसी प्रकार से उसी नजरिये से लोगो को भी देखने की कोशिश करते है. जिससे अच्छे से अच्छे रिश्ते में भी शक की दरार आ जाती है. और उस समय आपका रिश्ता कमजोर हो जाता है. हमें हमेशा रिश्तो को बनाये रखने की कोशिश करते रहनी चाहिये. क्यू की शक एक ऐसी बिमारी है जिस से बड़े से बड़ा रिश्ता भी कुछ ही पलो में बरबाद हो जाता है. इसीलिए हम जिन लोगो के साथ रहते है या जो लोग हमारे दिल के करीब होते है उनपर हमें भरोसा करना चाहिये.

0 comments:

Post a Comment

MSG ON MSG Products as solution to Food Adulteration!